Know Your Lucky Number From Your Date of Birth

know-your-lucky-number

जानिए भाग्यांक से अपना व्यक्तित्व

प्राचीन कल से ही मानव जाती के मन में अपने भविष्य के बारे में जानने की लालसा रही है, इसी लालसा ने ज्योतिष विद्या की जन्म दिया,  मानव ने ग्रहो के बदलने से होने वाले प्रभाव का सूक्ष्म अध्ययन किया और उससे होने वाले प्रभाव को दूर करने का प्रयत्न किया।

इसी प्रकार ज्योतिषियों ने ग्रहो के साथ साथ अंक का भी अध्ययन  शुरू किया साथ ही उससे होने वाली घटनाओ का मानव जीवन पर प्रभाव का अध्ययन  किया, इन्ही  सब घटनावो ने भाग्यांक को जन्म दिया।

सामान्यता भाग्यांक का  उपयोग लोगो का व्यक्तित्व, चरित्र और व्यवहार पता लगाने के लिए जाता है, इसलिए इसे जीननचक्रांक और जीवन पथ भी कहा जाता है

भाग्यांग के द्वारा व्यक्ति के भविष्य, उसके जीवन के महत्वपूर्ण घटना और विचारधारा का उल्लेख कर सकते  है. भाग्यांग के द्वारा भविष्य में होने वाली घटनाओ के बारे में पsता लगा सकते है.

भाग्यांक का उपयोग महत्वपूर्ण घटनावों को जानने के लिए किया जाता है, नाम तथा अक्षर बदल भी भाग्यांक के आधार पर किया जाता है. भाग्यांक हमरे जीवन के अनेक तथ्यों के बारे में हमे अवगत करता है.

भाग्यांक करने की विधि :-

भाग्यांक  के द्वारा मानव के व्यवसाय व कैरियर, रिश्ते, शादी, आदि के बारे में पता लगा सकते है, भाग्यांक के द्वारा हम अपने आगे का जीवन निर्धारित कर सकते है, साथ ही मन चाही सफलता प्राप्त कर सकते है, भाग्यांक को ज्ञात करने के लिए मानव के जन्म तारीख, जन्म माह, और वर्ष की आवश्यकता होती है.

जैसे :-  जैसे किसी जातक का जन्म दिन २८ और माह ८ और वर्ष १९८५ हो, तो इस तरीके से निकल जाता है.

जन्म तारीख + जन्म माह +जन्म वर्ष = भाग्यांक

जन्म तारीख :- २ + ८ = १०, १+० = १

जन्म माह  :- ८ = ८

जन्म वर्ष :- १९८५ = १+९+८+५ = २३, २+३= ५

भाग्यांक :- १+८+५ = १४, १+४ = ५

तो इस प्रकार निकल जाता है भाग्यांक, और  इससे पता लगाया जाता है है जातक के भविष्य क़े बारे में, उसके व्यवहार, और उसके कार्य कुशल के बारे में, क्यों की भाग्यांक मानव के जन्म के टाइम से निकल जाता है, जन्म के समय ग्रहो की स्थिति से उसके पूर्ण जीवन का पता लगाया जाता है.