नवग्रह के दोष दूर करने के अचूक उपाय

नवग्रह के दोष दूर करने के अचूक उपाय

हमारे शास्त्रों और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हर कोई किसी न किसी ग्रह दोष से पीड़ित है। जब भी कुंडली में कोई दोष होता है तो जीवन में परेशानियों का तूफान थमने का नाम ही  नहीं लेता है। हमारे विशेषज्ञ ने कुंडली के नवग्रहों के दोष को दूर करने के लिए कई उपाय बताये है जिसकी मदद से आप ग्रहो के दोष को दूर कर  सकते हो और अपने जीवन में पूर्ण शांति और समृद्धि ला सकते हो।

सूर्य दोष :-  

रविवार के दिन प्रातःकाल पीपल वृक्ष को प्रणाम करे और 11 लाल पुष्प चढ़ाये।

पानी में कच्चा दूध मिला कर पीपल वृक्ष पर अर्पित करें।

पीपल  के वृक्ष  के नीचे बैठकर  ध्यान करते हुए अपनी समस्या के निदान की प्रार्थना अवश्य करे।   इससे जीवन की समस्त बाधाए दूर होने लगेंगी और सकारात्मक ऊर्जा आपके जीवन में प्रवाहित होगी।

चंद्रमा दोष :-

सोमवार के दिन या जन्म नक्षत्र हो उस दिन पीपल वृक्ष की परिक्रमा करते हुए सफेद पुष्प अर्पण करें।

पीपल का एक पत्ता सोमवार को तोड़ कर धुप दे कर साथ ही उस पर सिन्दूर से “ह्रिं” लिख कर   अपने कार्य स्थल पर रखने से सफलता प्राप्त होती है और धन लाभ के मार्ग प्रशस्त होते  है.

पीपल वृक्ष के नीचे प्रति सोमवार कपूर मिलाकर  घी का दीपक लगाना चाहिए।

 

मंगल दोष :-

मंगलवार के दिन एक ताम्बे के लोटे में जल ले कर पीपल वृक्ष को अर्पित करें।

लाल रंग के पुष्प प्रति मंगलवार पीपल देव को अर्पण करें और साथ ही 8 परिक्रमा अवश्य करे।

मंगलवार  के दिन किसी मार्ग के किनारे पीपल के वृक्ष रोपण करें।

 

पीपल के वृक्ष के नीचे मंगलवार प्रातः कुछ शक्कर डाले।

प्रति मंगलवार और अपने जन्म नक्षत्र वाले दिन अलसी के तेल का दीपक पीपल के वृक्ष के नीचे लगाना चाहिए।

 

बुध दोष :- 

बुधवार के दिन या जन्म नक्षत्र वाले दिन पीपल के वृक्ष के नीचे स्नान करना चाहिए।

बुधवार के  दिन पीपल वृक्ष की  परिक्रमा करनी चाहिए।

बुधवार के  दिन  चमेली के तेल का दीपक लगाना चाहिए।

 

गुरु दोष :-

पीपल वृक्ष को गुरुवार के दिन  पीले पुष्प और भीगी चना दाल अर्पित करे ।

पिसी हल्दी जल में मिलाकर गुरुवार के दिन पीपल वृक्ष पर अर्पण करें।

पीपल के नीचे  गुरुवार  के  दिन  गौ माता के घी का दीपक जलाएं और उसमे केसर डाल दे ।

शुक्र दोष :-  

शुक्रवार के दिन पीपल पर दूध और सफ़ेद पुष्प चढ़ाएँ।

प्रत्येक शुक्रवार पीपल की परिक्रमा करे ।

पीपल के पत्ते पर रख कर घर में कपूर जलाना।

 

शनि दोष :-

शनिवार के दिन पीपल पर थोड़ा सा सरसों का तेल चडाना एवं सरसो के तेल का दीपक लगाना।

 

शनिवार के दिन पीपल की जड़ को सरसो के तेल में डूबा कर काले कपडे में बांध कर रखना।

 

राहु दोष :-

जन्म नक्षत्र के दिन पीपल वृक्ष की परिक्रमा करते हुए ॐ नमः शिवाय का जप करे ।

पीपल पर लाल पुष्प  शनिवार वाले दिन चढ़ाये।

पीपल के नीचे बैठा कर किसी जरुरत मंद को मीठा भोजन कराये।

केतु दोष :- 

पीपल वृक्ष पर प्रत्येक शनिवार मोतीचूर का एक लड्डू या इमरती चढ़ाएँ।

पीपल पर प्रति शनिवार गंगाजल मिश्रित जल अर्पित करना /सरसो का तेल चढ़ाना ।

पीपल पर तिल मिश्रित जल अर्पित करे ।

पीपल की एक परिक्रमा करते समय ” ॐ केतवे नमः ” मंत्र का जप  करे।

पीपल के पत्ते पर मीठी रोटी रख का कुत्तो को खिलाये।

इन उपाय  की मदद से आप नवग्रहों के दोष से मुक्त हो जायेंगे और आपके जीवन में समृद्धि, वैभव बना रहेगा और धन संबंधित परेशानी दूर होगी।